WhatsApp New Privacy Policy: क्या ये स्वीकार्य है या नहीं?
WhatsApp New Privacy Policy

WhatsApp New Privacy Policy: क्या ये स्वीकार्य है या नहीं?

व्हाट्सएप के मुताबिक यह WhatsApp New Privacy Policy सिर्फ Business account के लिए है तो इसे स्वीकार करने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए, क्योंकि बिजनेस अकाउंट से लोग बिजनेस को लेकर ही बात करते हैं।

फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टैंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप (WhatsApp) अब तक की सबसे विवादित WhatsApp Privacy Policy 15 मई से लागू हो रहा है। पहले व्हाट्सएप ने कहा था कि जो यूजर पॉलिसी को स्वीकार नहीं करेगा, उसके अकाउंट को डिलीट कर दिया जाएगा,

लेकिन व्हाट्सएप ने सांप को मारने और लाठी ना टूटने वाले फॉर्मूले को अप्लाई किया है। व्हाट्सएप ने कहा है कि यदि आप उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करते हैं तो वह आपके अकाउंट को डिलीट नहीं करेगा लेकिन धीरे-धीरे सभी फीचर्स को बंद कर देगा, मसलन आपको किसी के मैसेज आने का नोटिफिकेशन तो दिखगा लेकिन आप उसे पढ़ नहीं पाएंगे। आइए विस्तार से समझते हैं कि व्हाट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी स्वीकार करनी चाहिए या नहीं?

WhatsApp New Privacy Policy में क्या है?

व्हाट्सएप ने साफतौर पर कहा है कि उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी पैरेंट कंपनी फेसबुक को ध्यान में रखकर तैयार किया है। whatsapp new privacy policy 2021 के तहत व्हाट्सएप का डाटा फेसबुक, इंस्टाग्राम और पार्टनर कंपनियों के साथ शेयर किया जाएगा, लेकिन यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि नई पॉलिसी सिर्फ बिजनेस अकाउंट के लिए है

यानी यदि आप किसी बिजनेस अकाउंट (व्हाट्सएप बिजनेस) से व्हाट्सएप पर चैट करते हैं तो सिर्फ वही डाटा कंपनी लेगी और अन्य कंपनियों को देगी, लेकिन यदि आप अपने किसी दोस्त या रिश्तेदार से आम व्हाट्एप अकाउंट से बात कर रहे हैं तो आपकी चैटिंग कंपनी नहीं देखेगी और ना ही किसी कंपनी के साथ शेयर करेगी, लेकिन यदि आपका दोस्त व्हाट्सएप का बिजनेस एप यूज करता है तो आपकी चैटिंग कंपनी पढ़ेगी और शेयर भी करेगी। ऐसे में सीधी बात यह है कि नई प्राइवेसी पॉलिसी सिर्फ Business account के लिए है। इसे स्वीकार करने के बाद निजी चैट प्रभावित नहीं होंगे।

WhatsApp New Privacy Policy पर व्हाट्सएप का क्या कहना है?

व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका डाली गई थी जिसके जवाब में व्हाट्सएप ने कहा था कि तमाम इंटरनेट आधारित एप की वही पॉलिसी है जो हमारी है। बिग बास्केट, कू, ओला ट्रूकॉलर, जोमैटो और आरोग्य सेतु एप भी यूजर्स का डाटा लेते हैं।

व्हाट्सएप ने 5 मई को कोर्ट में एफिडेविट दिया है जिसमें अन्य एप्स द्वारा लिए जा रहे यूजर डाटा की आलोचना की गई है। व्हाट्सएप ने अपने एफिडेविट में गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, जूम और रिपब्लिक वर्ल्ड का भी नाम लिया है जो कि रिपब्लिक टीवी का डिजिटल वेंचर है।

व्हाट्सएप ने कोर्ट से कहा है कि यदि भारत में उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी ब्लॉक की जाती है तो इस फैसले से अन्य कंपनियां भी प्रभावित होंगी।व्हाट्सएप का दावा है कि यदि उसके खिलाफ फैसला आता है तो भारत में सेवाएं दे रहे ग्रोसरी एप और ऑनलाइन डॉक्टर के अप्वाइंटमेंट दिलाने वाले एप्स भी प्रभावित होंगे। व्हाट्सएप का कहना है कि नई पॉलिसी सिर्फ Business account के लिए है। ऐसे में इसे लेकर हंगामा होना ही नहीं चाहिए।

WHATS APP ACCOUNT KO PERMANENTLY KAISE DELETE KARE

WhatsApp New Privacy Policy स्वीकार करनी चाहिए या नहीं?

व्हाट्सएप के मुताबिक यह whatsapp privacy policy update सिर्फ बिजनेस अकाउंट के लिए है तो इसे स्वीकार करने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए, क्योंकि Business account से लोग बिजनेस को लेकर ही बात करते हैं। यदि आप नई पॉलिसी को स्वीकार नहीं करते हैं तो आपको कुछ समय तक पॉलिसी स्वीकार करने के लिए नोटिफिकेशन मिलेंगे।

शुरुआती कुछ दिनों तक तो आप व्हाट्सएप पर आने वाले ऑडियो और वीडियो कॉल का जवाब दे पाएंगे, मैसेज का रिप्लाई कर पाएंगे, नोटिफिकेशन देख पाएंगे, लेकिन कुछ सप्ताह बाद आपके व्हाट्सएप अकाउंट पर कॉल, मैसेज और नोटिफिकेशन आने बंद हो जाएंगे। यदि आप पॉलिसी स्वीकार नहीं करते हैं और 120 दिनों तक आपका अकाउंट यूज नहीं होता है तो कंपनी आपके अकाउंट को डिलीट कर देगी।

WhatsApp New Privacy Policy में दिक्कत क्या है?

साल 2014 में फेसबुक ने व्हाट्सएप को खरीदा था उसके दो साल बाद यानी 2016 में कंपनी ने नई प्राइवेसी पॉलिसी जारी की थी जिसके बाद कंपनी फेसबुक के साथ आपका मोबाइल नंबर शेयर कर रही है ताकि आपको बेहतर फ्रेंड सजेशन मिलें और आपको संबंधित विज्ञापन दिखाए जाएं। इसका सीधा मतलब यह है कि व्हाट्सएप पहले से ही आपका कुछ डाटा फेसबुक के साथ शेयर कर रहा है।

नई प्राइवेसी के बाद व्हाट्सएप फेसबुक के साथ आपका और अधिक डाटा शेयर करना चाह रहा है। नई पॉलिसी के तहत व्हाट्सएप पेमेंट का डाटा भी फेसबुक के साथ शेयर किया जाएगा यानी इसमें पेमेंट से लेकर ट्रांजेक्शन तक की जानकारी होगी, हालांकि कंपनी ने साफ कहा है कि निजी चैट प्रभावित नहीं होंगे। रही बात डाटा लेने की तो कई ऐसे एप्स आपके फोन में होंगे जो आपका डाटा ले रहे हैं और वह भी चुपके से…

GB Whatsapp Download और Update Kaise Kare

Whatsapp Aero क्या है Whatsapp Aero Download कैसे करे

WhatsApp Privacy Policy से सम्बंधित पूछे जाने वाले FAQ

Q 1. क्या व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी सुरक्षित है?

Ans. हालांकि कंपनी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि USERS की चैट सुरक्षित हैं, और उनकी कॉल एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड रहती हैं, उनके संपर्क फेसबुक के साथ साझा नहीं किए जाते हैं और न ही व्हाट्सएप और न ही फेसबुक संदेशों को पढ़ सकते हैं, अत्यधिक डेटा एकत्र करने की अनावश्यक आवश्यकता प्रासंगिक विज्ञापन दिखाने के नाम पर संदेह पैदा किया है।

Q 2. व्हाट्सएप प्राइवेसी पॉलिसी क्यों बदल रहा है?

Ans. व्हाट्सएप ने अपनी अद्यतन गोपनीयता नीति की घोषणा के बाद से यह स्पष्ट कर दिया है कि अपडेट मुख्य रूप से अपने मैसेजिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले व्यवसायों के लिए है। … लेकिन फिर भी, व्हाट्सएप ने कहा कि यह परिवर्तन प्लेटफॉर्म पर “लोग दोस्तों या परिवार के साथ कैसे संवाद करते हैं” को प्रभावित नहीं करेंगे

Q 3. व्हाट्सएप के नए प्राइवेसी नियम क्या हैं?

Ans. नई व्हाट्सएप गोपनीयता नीति का त्वरित पुनर्कथन

व्हाट्सएप ने दोहराया है कि उसका मैसेजिंग ऐप एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड है और इसकी आपकी निजी चैट या स्थान तक पहुंच नहीं है। कंपनी फेसबुक के साथ निजी संदेश या अन्य डेटा साझा नहीं करती है।

Q 4. क्या व्हाट्सएप की नई पॉलिसी खतरनाक है?

Ans. क्या व्हाट्सएप की नई नीति खतरनाक है? नहीं, व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी खतरनाक नहीं है. नई गोपनीयता नीति में बदलाव के साथ, आपकी चैट एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड बनी रहेंगी। कोई भी तृतीय-पक्ष या फेसबुक आपकी निजी चैट या कॉल को नहीं देख सकता है क्योंकि ये एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड हैं।

Q 5. यदि आप WhatsApp प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करते हैं तो क्या होगा?

Ans. यदि आप व्हाट्सएप की नई गोपनीयता नीति को स्वीकार नहीं करते हैं, तो आप धीरे-धीरे अधिकांश सुविधाओं तक पहुंच खो देंगे। इसके बाद व्हाट्सएप “लगातार रिमाइंडर” भेजना शुरू कर देगा। एक बार यह शुरू हो जाने के बाद, उपयोगकर्ता अपनी व्हाट्सएप चैट सूची तक नहीं पहुंच पाएंगे और वे केवल इनकमिंग वॉयस या वीडियो कॉल का जवाब दे पाएंगे या कर पाएंगे।

Q 6. क्या नई पॉलिसी के बाद व्हाट्सएप वीडियो कॉल सुरक्षित है?

Ans. आपके कुछ सबसे व्यक्तिगत क्षण व्हाट्सएप के साथ साझा किए जाते हैं, यही वजह है कि हमने अपने ऐप में एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन बनाया है। जब एंड-टू-एंड एन्क्रिप्ट किया जाता है, तो आपके संदेश, फ़ोटो, video, ध्वनि संदेश, document और call गलत हाथों में पड़ने से सुरक्षित रहते हैं

तो यदि आपको व्हाट्सएप यूज करना है तो आपको उसकी WhatsApp New Privacy Policyस्वीकार करनी ही होगी, वरना आपको अपना अकाउंट डिलीट करना होगा। एक बाद ध्यान रहे कि एक बार अकाउंट डिलीट होने के बाद वह दोबारा एक्टिव नहीं होगा।

This Post Has 3 Comments

  1. THC vape carts

    hello!,I love your writing very a lot! share we keep up a correspondence more about your post on AOL?
    I require an expert in this house to solve my problem.
    Maybe that’s you! Looking forward to look you.

    Also visit my webpage THC vape carts

  2. weed gummies

    Hmm it appears like your website ate my first comment (it was super long)
    so I guess I’ll just sum it up what I wrote and say,
    I’m thoroughly enjoying your blog. I as well am an aspiring blog writer but I’m
    still new to everything. Do you have any tips for beginner blog writers?
    I’d definitely appreciate it.

    Feel free to visit my webpage :: weed gummies

Leave a Reply